अमेठी में विकास की इबादत भाजपा-कांग्रेस लिखने से घबड़ाई

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कौशल किशोर मिश्रा ब्यूरो चीफ अमेठी के साथ अशोक श्रीवास्तव फ़ैज़ाबाद रीजन हेड
शिलापट पूजन में कांग्रेस के बाद भाजपा महारथ हासिल करने को बेचैन

अमेठी। गांधी परिवार के विरासत कही जाने वाली अमेठी आज भाजपा सरकार के उपेक्षा का शिकार का ताना सांसद राहुल गांधी देकर अमेठी से रवाना हुए। चर्चा है कि जो विकास कार्य अमेठी में हुए या कई शिलापट पूजन के बाद विकास के झंझावात में फाइल अटक कर रह गयी। इस ताने से निपटने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अपनी टोली के साथ शिलापूजन का खेल और विकास का ढिंढोरा पीटने जल्द अमेठी आने को बेचैन है। इनकी टीम में केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय आदि का कार्यक्रम प्रस्तावित लोग बताते है। अब अमेठी में योजना और विकास को लेकर शिलापट के लोकार्पण के बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी होगा। केन्द्र सरकार की भाजपा सरकार को साढे तीन साल बीताने के बाद आज तक एक भी शिलापट लगाने में विफल रही। यदि कही शिलापट लगा भी तो गांधी परिवार के आईआईआईटी (राजीव गांधी सूचना एवं प्रौद्योगिकी संस्थान) टीकरमाफी का कैम्पस काॅलेज बन्द कर भारतीय जनता पार्टी ने डाॅ भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय लखनऊ का कैम्पस डिग्री काॅलेज उसी भवन में खोलकर केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी वाह वाही लूटने को खेल तो किया। लेकिन अमेठी की कांग्रेस ने पुरजोर विरोध कर जनता के सामने भाजपा का विकास बेनकाब करने का प्रयास किया। आज तक स्थिति यह है कि केन्द्र और प्रदेश सरकार अमेठी में कोई भी परियोजना अपने सरकार की उपलब्धि बताने से इधर उधर ताक झांक करने को मजबूर है। अमेठी जिला बने लगभग 5 वर्ष होने जा रहे है लेकिन अभी सरकारी दफ्तर की इमारते बनकर विकास का ताना बाना बुनने के लिए अपने मंजिल पर नही पहुच सका।
कांग्रेस ने जो किया उसका अमेठी की जनता ने सदैव स्वीकार किया। बात हजम नही हुई तो अमेठी की जनता पलटवार करने से बाज नही आयी। अमेठी में सपा के सहारे भले राहुल गांधी सांसद बन गये हो लेकिन भाजपा की राज्यसभा सदस्य और अमेठी से चुनाव लड़ने वाली स्मृति ईरानी को सम्मान जनक जनादेश देकर विकास के लिए संदेशा अमित शाह और नरेन्द्र मोदी की जोडी को भेजा। इससे भी भाजपा खुश नही हुई तो वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव मंे गौरीगंज को अपवाद स्वरुप छोड़ दे तो सलोन तिलोई जगदीशपुर अमेठी में सपा बसपा और कांग्रेस को जनता ने जमकर लताड़ लगाई और अमेठी लोकसभा से दो तिहाई बहुमत का जनादेश भाजपा को सौप विधानसभा तक अपनी आवाज विकास के लिए पहुचायी। लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश के आवास एवं कोशल विकास मंत्री सुरंेश पासी उस मिशन मंे अपने आपको सटीक नही बैठा पा रहे है। आगामी लोकसभा का चुनाव 2019 का नजदीक न आता और नगर निकाय चुनाव की रणफेरी न बजती। तो भाजपा की कुम्भकरणी नींद अमेठी के लिए खुल पाना नामुमकीन रहता।
विधानसभा चुनाव के ठीक पहले तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु और केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी सहित कई मंत्रियो के कार्यक्रम स्थानीय रामलीला मैदान और जूनियर हाईस्कूल परिसर अमेठी का रेल अधिकारियो के साथ स्थानीय प्रशासन के अधिकारियो ने आने के कार्यक्रम पर मुहर लगा दी। लेकिन शिलापट और विकास के खेल में अपने आप को भाजपा सटीक न बैठा पाने के चलते कार्यक्रम को मजबूरन रद्द करना पड़ा।
अमेठी की हाल देखना हो तो प्रधान डाकघर में डाक अधीक्षक नही बैठते

आधे से अधिक कर्मचारियो के पद रिक्त है। रेलिंग टूट कर गिर रही है एटीएम पर कर्मचारी नही है। कम्प्यूटर की आपूर्ति की जा रही है। जो भवन बना है उसी में पोर्टल बैक खोलने की तैयारी जोरो पर चल रही है इस बैंक का मुवायना पिछवाड़े की तरफ होगा। जबकि इस डाकघर में दो सौ तीस छोटे डाकघर है तो बीस बड़े शाखा डाकघर है लेकिन इनका संचालन रामभरोसे चल रहा है। ढकवा प्रतापगढ अमेठी गौरीगंज जगदीशपुर नेशनल हाईवे पर विकास की आस नही आयी और टूट रही सड़क पर तारकोल के पलीते लग रहे है। नेशनल हाईवे पर चलने वाले लोग अपनी स्पीट 40 और 120 कन्ट्रोल करने को मजबूर है क्योकि पटरी बनी नही और पटरी पर कटीली झाडी उगी है। गौरीगंज से जगदीशपुर के बीच में इतना घुमावी मोड है सडक दुर्घटना तो आये दिन फैशन हो चला है। इसी नेशनल हाईवे में अमेठी का बाईपास मार्ग योजना भी शामिल की गयी है। जिसकी लम्बाई सात किमी के पार है जिस पर सफर करना भारी वाहन के बस की बात नही रही। भारतीय संचार निगम लि0 और ब्राण्डबैण्ड कनेक्शन तथा मोबाइल का नेटवर्क बीएसएनल के साथ अन्य मोबाइल कम्पनियो का नेटवर्क का सर्वर इतना गिरता नजर आता है कि मोबाइल और कम्प्यूटर के सेट पर नेटवर्क खुशहाल नजर नही आता जिससे विकास की इबादत अमेठी में लिख पाना टेढी खीर है।
भारतीय रेल के उत्तर रेलवे स्टेशन अमेठी पर गाडियो की भरमार है

पूछतांछ काउण्टर सुबह 08 बजे से शायं बजे तक ही जैसे तैसे संचालन हो पाता है बाकी स्टाॅफ के अभाव में रेलवे पूछतांछ सहायक स्टेशन मास्टर रहमो करम पर चलता रहता है। साधारण टिकट खिड़की भी सिंगल होने के चलते टिकट के लेन देने में सफर करने से पहले रेल टेªन के चपेट में आ जाते है। दुर्घटना में अब तक कई लोग विकलांग हो चले है। अब प्रदेश सरकार की योजनाओ पर नजर डाले तो नहरे सूखी पड़ी है तो बिजली की अघोषित कटौती चल रही है। मनरेगा योजना में बजट की मांग को लेकर प्रधान ब्लाक मुख्यालय पर धरना दे रहे है। एण्टी रोमियो टीम और पुलिस के 100 नं0 वैन से अब लोग तौबा कर चुके है। शिक्षा की गुणवत्ता व्यवस्था पूरी तरह से डगडगा रही है। छप्पर वालो को मान्यता भवन वालो को कैसिल अमान्य विद्यालय की भरमार , वित्त विहिन विद्यालय मे पढाई के नाम पर अफरा तफरी का माहौल छात्र और अभिभावक बयां कर रहे है, सरकारी अस्पतालो में दवाएं नदारद है। आवासीय योजनाओ में नजराना आने के बाद लाभार्थियो को सूची को बद्व करते सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के कोटेदार रिश्वत देकर लाभार्थी का गल्ला बंदरबांट खुलेआम कर रहा है।
अमेठी में चर्चा जोरो पर है कि पहले जवाहर नवोदय विद्यालय गौरीगंज फिर उसके बाद रामगंज कौहार में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ अन्य मंत्रियो के कार्यक्रम भाजपा ईकाई तय करने में जुटी है। भाजपा सूत्रो की माने तो आगामी 10 अक्टूबर को नेताओ को जमावड़ा रामगंज कौहार में होगा। जहाॅ पर अमेठी में मात्र एवं शिशु चिकित्सालय 100 वेड, अमेठी दुर्गापुर लम्भुआ मार्ग, अमेठी ककवा अठेहा सलोन मार्ग, पावर हाउस बेनीपुर, पावर हाउस ठेगहा पावर हाउस गुंगवाछ पर शिलापट लगाने की चर्चा है। आकाशवाणी और दूरदर्शन के नये कलेवर स्थापित करने की योजना भी बतायी जाती है।
भाजपा और कांग्रेस आपस में  नूरा कुश्ती का खेल कर रहे हैं. नेता अपने गुण को जनता के बीच में सच्चाई से कतई बयाॅ नही करते है। अमेठी की जनता सदैव बेबशी में रही है। केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने अमेठी को स्मार्ट सिटी घोषित करने का ढिंढोरा पीटा लेकिन चन्द दिनो बाद अपनी बात से मुकर गयी। तब से अमेठी की जनता करनी और कथनी में फर्क करना महसूस करना शुरु कर दिया।लेकिन अमेठी की जनता ने अमेठी लोकसभा के चारो विधानसभाओ में मजबूत जनादेश देकर विकास के लिए रोशनदान खोला। आखिर इस पहल पर भाजपा कितना गम्भीरता से लेगी। वह वक्त ही भाजपा के सिर पर मंडरा रहा है। तिलोई में ताल से परेशान रहेगे। तो अमेठी में ऊसर से परेशान रहेगे।तो गौरीगंज अपने गौरव से परेशान रहेगे। सलोन गैर जनपद को समर्पित हो चुका है। जगदीशपुर मुसाफिरखाना कादूनाला के जंगल और आपसी सघर्ष के लिए धीरे धीरे चर्चित बनता जा रहा है आपसी संघर्ष में चर्चित होता जा रहा है। अमेठी में 80 फीसदी लोग खेती किसानी से जुडे है। खेती के विकास शिक्षण संस्थान अच्छे खाद बीज के प्रतिष्ठान, उन्नतिशील कृषि यंत्र का प्रभाव सभी खेतो को सिंचाई का पानी मिल पाना टेढी खीर है। यंत्रिकरण को बढावा है लेकिन अधिकांश लोग मजदूरी से ही अपनी खेती किसानी का सफर चला रहे हैं। अधिकांश बाग बगीचे कट गये है। सब्जियाॅ रोग कीट के प्रकोप से परेशान है। फल सब्जी दूध और अनाज के प्रसंस्करण की व्यवस्था कही नही दिखती। कमाई की बूद कहा संरक्षित करे इसके लिए पल पल घुटन सा महसूस करते है।

Ashok Shrivastav

Ashok Shrivastav

State Head Uttar Pradesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *