दस रुपये स्टाम्प की मुसाफिरखाना में काला बाजारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कौशल किशोर मिश्रा ब्यूरो चीफ अमेठी

अमेठी जिले के तहसील मुसाफिरखाना में कई दिनों से 10 मूल्य का स्टांप पेपर की कमी चल रही थी और तहसील परिसर में आने वाले जरूरत मन्द लोगों को स्टाम्प न मिलने के कारण बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था । कई लोगों को मजबूरी में 50 और 100 रुपये मूल्य का स्टांप पेपर खरीदना पड़ा रहा था।
मुसाफिरखाना तहसील में स्टांप पेपर की कमी की मुख्य वजह मुसाफिरखाना में 10 मूल्य के स्टांप पेपरों की अनुपलब्धता थी। 10 रुपये मूल्य के स्टांप पेपर की कमी के चलते तहसील मुसाफिरखाना में आने वाले लोगों का शोषण बदस्तूर काफी दिनों से जारी रहा ।
इस बारे में जब एक स्टांप विक्रेता से पूछा गया तो उसने अपना नाम ना छापने किस शर्त पर बताया कि जब भी हम स्टांप पेपर की आवक और उठान के लिए जिला मुख्यालय जाते हैं तो वहां से हम से अतिरिक्त कमीशन कोषागार के प्रभारी द्वारा मांगा जाता है और यदि कोषागार मुख्यालय में अतिरिक्त सुविधा शुल्क नहीं दिया जाता तो ऐसी दशा में स्टांप पेपर की आपूर्ति मांग से बहुत कम की जाती है।
सामान्य तौर पर मुसाफिरखाना तहसील में 10 मूल्य के स्टांप पेपर कि 1 महीने में बिक्री 4 बंडल के आसपास होती है लेकिन मांग के बावजूद भी मुसाफिरखाना कोषागार में दो बंडल ही स्टांप मुहैया कराया जाता है जिसके बाद 10 के स्टांप पेपर की भारी कमी हो जाती है ऐसे में स्टांप विक्रेताओं को भी दुकानदारी धीमी हो जाती है स्टांप पेपर आपूर्ति में कोषागार मुख्यालय द्वारा बड़ा खेल किया जाता है जिस को तहसील स्तर पर स्टांप पेपर की आपूर्ति बाधित की जाती है । इस संदर्भ में एक तहसील में काम करने वाले मुंशी ने बताया कि ₹10 स्टांप पेपर की आपूर्ति ना हो पाने के कारण 50 और 100 रुपए मूल्य के स्टांप पेपर को खरीदकर आवश्यक कागजात तैयार कराए जाते हैं ।लोगों के पास पैसे की कमी हो जाने के कारण उनको भी उचित परिसर में परिश्रमिक नहीं मिल पाता है ।
इस संबंध में आज अमेठी जिले के कोषागार के प्रभारी राजेश से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि मुसाफिरखाना में 10 स्टांप पेपर की कमी का मामला उनके संज्ञान में आया है और जिले में वी आई पी लोगों के आने की वजह से स्टांप पेपर की आपूर्ति नहीं हो पाई थी । स्टाम्प पेपर को जिला मुख्यालय से तहसील मुख्यालय ले जाने के लिए वाहन और सुरक्षा व्यवस्था की आवश्यकता पड़ती है जो गत दिनों नहीं उपलब्ध हो पाई थी । लेकिन कल शुक्रवार को मुसाफिरखाना के कोषागार में 10 मूल्य के स्टांप पेपर को पहुंचा दिया जाएगा और वह जनता को आसानी मिलने लगेंगे।

 

Ashok Shrivastav

Ashok Shrivastav

State Head Uttar Pradesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *