पृथक बुंदेलखंड राज्य की मुहिम तेज – मुस्करा से संवाददाता अमित त्रिवेदी की रिपोर्ट

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

*पृथक बुंदेलखंड राज्य की मुहिम तेज*
मुस्करा हमीरपुर !
जनपद हमीरपुर के युवाओं द्वारा पृथक बुंदेलखंड राज्य के लिए जन जागरूकता साइकिल यात्रा निकाली गई। यह यात्रा जनपद के झलोखर कस्बा से प्रारंभ होकर कई जिलों से होती हुई रामलला की तपोभूमि चित्रकूट में जाकर समाप्त होगी। पृथक बुंदेलखंड राज्य साइकिल यात्रा का संचालन पंडित बृजेश कुमार बादल एवं सत्येंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में किया जा रहा है। वही बादल जी का कहना है कि बुंदेलखंड के लोगों का एवं प्राकृतिक साधनों का प्रत्येक सरकार द्वारा शोषण किया जाता रहा है। बुंदेलखंड की प्राकृतिक धरोहर से सरकारें मनचाहा कोष भरने में लगी रहती हैं। लेकिन बुंदेलखंड के पिछड़ेपन को दूर करने की एवं युवाओं को रोजगार देने की सोच नहीं रखतीं। और वहीं दूसरी ओर बुंदेलखंड का किसान सूखा की मार झेलते हुए आत्महत्या करने पर आज मजबूर हो रहा है। जबकि बुंदेलखंड में बहुत सी नदियां बहती हैं, फिर भी भूमि सिंचाई के साधनों का अभाव है। यात्रा संचालक सत्येंद्र अग्रवाल ने बताया कि इस साइकिल यात्रा का मुख्य उद्देश बुंदेलखंड की आम जनता को जागरूक करना है। ताकि हमारा बुंदेलखंड उत्तराखंड की भांति एक अलग राज्य बनकर सामने उभरे। जिससे यहां का चौमुखी विकास हो सके। प्राकृतिक खनन से प्राप्त कोष बुंदेलखंड के विकास में लगाया जाए। किसानों को कृषि के पर्याप्त साधन साधन उपलब्ध हों।
बताते चलें कि यह साइकिल यात्रा मुख्यालय से आज दोपहर 12:00 बजे मुस्करा कस्बे पहुंची। जिसमें दर्जनों लोग साइकिल पर *जय बुंदेलखंड* का झंडा लगाए हुए नारे लगाते नजर आए। खास बात तो यह है कि यह साइकिल यात्रा जहां से गुजरती है वहीं से बहुत से लोग अपनी अपनी साइकिल लेकर यात्रा के सहयोगी बनते जा रहे हैं। इससे एक बात तो तय है कि कहीं ना कहीं बुंदेलखंड की जनता अपने संघर्ष की वेदना लिए पिछड़ेपन की जिंदगी जीने को मजबूर है। और यही वो कारण है जो बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाने के लिए आज लोगों के दिलों में घर किए हुए हैं। मुस्करा से साइकिल यात्रा निकलते ही कस्बा का जनसेवी रॉयल ग्रुप साइकिल यात्रा में भागीदार होकर चल दिया। जिसमें विकास राजपूत, गोपाल पांडे, वसीम बेग, राज, बॉबी लखेरा, अभिषेक तिवारी आदि दर्जनों लोग साइकिल यात्रा में शामिल हुए।

*मुस्करा से संवाददाता अमित त्रिवेदी की रिपोर्ट*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: