भाजपाई अटल जी के प्रति श्रद्धाभाव से नहीं राजनैतिक स्वार्थ के लिए यह प्रोपोगंडा कर रहे हैं : सुशील आनंद शुक्ला

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रायपुर:31 अगस्त 2018:
भाजपा द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटलबिहारी बाजपेयी की प्रतिमा के लिए प्रदेश के दस हजार गावों से मिट्टी एकत्रित किए जाने की घोषणा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अटल जी के अस्थि कलश को सामने रख कर ठहाके लगाने वाले अपने ही नेता की मौत को चुनावी प्रचार का माध्यम बनाने में लगे हैं। भाजपाई अटल जी के प्रति श्रद्धाभाव से नहीं राजनैतिक स्वार्थ के लिए यह प्रोपोगंडा कर रहे हैं। इस प्रकार का आचरण कर लोगों का भावनात्मक शोषण करने का भाजपा का पुराना इतिहास रहा है। इसके पहले भी भाजपाइयों ने अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बनाने के लिए देश भर के 4 लाख 49 हजार चार सौ इक्यासी गावों में श्री राम शिला पूजन का कार्यक्रम करने की नौटंकी करके देश भर से एक एक ईंट और चन्दा एकत्रित किया था। डेढ़ दशक से भी अधिक समय बीत गया भगवान श्री राम के नाम से एकत्रित की गई इन ईंटो और हजारों करोड़ रुपयों का हिसाब देने को कोई भाजपा नेता तैयार नही है। भाजपा ने अटल बिहारी के सिद्धांतों को उसी दिन तिलांजली दे दिया था जब से उसने अपना परचम नरेंद्र मोदी और अमित शाह को थमा दिया। भाजपाइयों में स्व.अटल बिहारी बाजपेयी के प्रति थोड़ी भी श्रद्धा बची हो तो सबसे पहले वे नरेंद्र मोदी और अमित शाह का परित्याग करें। गुजरात दंगों के समय मोदी के आचरण से व्यथित हो कर अटल जी ने मोदी को राजधर्म का पालन करने का नसीहत दिया था। नौ वर्षो तक रुग्णावस्था में नेपथ्य में एकांकी जीवन व्यतीत कर रहे बाजपेयी को भाजपा भुला बैठी थी अब चुनावी लाभ के लिए उनकी मृत्यु के बाद सैकड़ों अस्थि कलश निकालती है, उनकी प्रतिमा के लिए मिट्टी संकलित करने की ड्रामेबाजी कर भाजपा स्व.अटलबिहारी बाजपेई का मखौल बना रही है।

Prakash Punj Pandey

Prakash Punj Pandey

State Bureau Chhattisgarh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: