अच्छे दिन का वादा करके भाजपा सरकार जानबूझकर कर जनता को परेशान कर रही है – डॉ चरण दास महंत

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दीवाली से पहले महँगाई बम फोड़ कर, भाजपा सरकार ने निकाला जनता का दिवाला – डॉ चरण दास महंत

छत्तीसगढ़ काँग्रेस कमेटी के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ चरण दास महंत ने रोज़ाना बढ़ रही पेट्रोल डीज़ल की कीमतों से जनता को हो रही परेशानी के कारण केंद्र और राज्य सरकारों से प्रश्न किया है कि ऐसा क्या कारण है कि अच्छे दिन का वादा करके भाजपा सरकार जानबूझकर कर जनता को परेशान कर रही है।

डॉ चरणदास महंत ने कहा कि हमारे देश की ज्यादातर जनता गांव में बसती है और दशहरा दीवाली हमारे देश के सबसे बड़े त्योहारों में से एक हैं, जब लोग हर्षोल्लास से ख़ुशियाँ मनाते हैं लेकिन इस सरकार ने दशहरे दीवाली से पहले ही महँगाई का बम फोड़ कर लोगों का दिवाला निकाल दिया है। पेट्रोल डीजल के अलावा बिना सब्सिडी वाले एलपीजी सिलिंडर की कीमतों में सोमवार से 59 रुपये की बढ़ोतरी कर दी गई है। इसके अलावा सब्सिडी वाली घरेलू गैस की कीमतों में भी बढ़ोतरी 2.89 रुपये प्रति सिलिंडर की वृद्धि हुई है जिससे अब एक सिलिंडर 845 रुपये में मिलेगा। पिछले 6 माह में 206 रुपए की बढ़ोत्तरी, यह इज़ाफा जीएसटी के कारण हुआ है।

डॉ महंत ने कहा कि छत्तीसगढ़ और देश में रोज़ाना डीज़ल-पेट्रोल के बढ़ते दाम ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। वाहन चालकों को और ज्यादा परेशानी हो रही है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम को कम करने की मांग की जा रही है लेकिन केन्द्र और राज्य सरकार बढ़ रहे दामों पर नियंत्रण करने में नाकाम साबित हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने से दैनिक उपयोगी सामान सहित अन्य सामग्रियों के दाम भी बढ़ रहे हैं। भाजपा, जब सरकार में नहीं थी तब पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने पर केन्द्र के कांग्रेस सरकार के खिलाफ हल्ला बोलती थी। अब खुद भाजपा केन्द्र की सत्ता पर बैठी है तो रोज़ पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ रहे हैं। पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने से सभी वाहन मालिक परेशान हैं। साथ ही अन्य चीजों की महँगाई भी बढ़ रही है जिससे आम जनता भी परेशान है।

डॉ चरण दास महंत ने कहा कि सरकार अपनी मंशा स्पष्ट करे कि क्या चुनावों के खर्च निकालने के लिए यह भार जनता पर डाला जा रहा है? लगता है कि मोदी सरकार चुनाव आने तक रोज़ाना डीज़ल-पेट्रोल के दामों में बढ़ोतरी कर चुनावी खर्च करने के लिए जनता से अरबों रुपए वसूल कर लेगी और ठीक चुनाव से पहले दामों में कुछ कटौती कर जनता को लुभाने की कोशिश करेगी। जनता की गाढ़ी कमाई को लूट रही है भाजपा सरकार लेकिन जनता अब भारतीय जनता पार्टी की नीयत को समझ चुकी है और आने वाले दिनों में सही सबक सिखाने के लिए मन बना चुकी है। यदि भाजपा सरकार की इच्छाशक्ति होती और वो वाकई में जनता के प्रति सजग होती तो वो पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वैट घटाकर जनता को राहत देती लेकिन ऐसा नहीं हुआ। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह अपने आप को गरीबों का मसीहा कहते हैं तो क्या ये सिला दिया है उन्होंने छत्तीसगढ़ की भोली भाली जनता के विश्वास का?

डॉ चरण दास महंत ने मांग की है कि सरकार को पेट्रोल-डीजल के दाम को तत्काल प्रभाव से कम करना चाहिए तभी महँगाई नियंत्रित होगी और इसके लिए सभी पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी में शामिल करने की जरूरत है।

Prakash Punj Pandey

Prakash Punj Pandey

State Bureau Chhattisgarh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: