भाजपा की कथनी और करनी में फर्क, चुनाव पास आते ही विकास याद आ गया – डॉ चरणदास महंत

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ चरणदास महंत ने भारतीय जनता पार्टी पर चुटकी लेते हुए कहा कि जैसे जैसे चुनाव नज़दीक आ रहा है वैसे वैसे भाजपा को विकास की याद आ रही है जो उनकी बेचैनी को साफ दर्शाता है क्योंकि डॉ रमन सिंह प्रदेश व्यापी विकास यात्रा कर रहे हैं, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह संपर्क यात्रा कर रहे हैं और नरेंद्र मोदी जी हमेशा की तरह विदेश यात्रा में व्यस्त रहते हैं।
डॉ चरणदास महंत ने भाजपा से यक्ष प्रश्न किया कि छत्तीसगढ़ के 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र, जिसे भाजपा ने अपना संकल्प पत्र बताया था, उसमें से कितने वादे पूरे किए गए हैं? सर्वे के अनुसार छत्तीसगढ़ का रोज़गार दर 2013 में प्रति 1000 व्यक्ति मात्र 14 थी जो अब घट कर 7 से 10 रह गई है। रोजगार देने के बजाय पकौड़े और पान की दुकान लगाने को रोज़गार बताया जा रहा है। शिक्षा का स्तर भी छत्तीसगढ़ में भाजपा के शासन काल में निम्न स्तर पर पहुंच गया है, हाल ही में मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि देश के शीर्ष 100 शैक्षणिक संस्थानों में से एक भी संस्थान छत्तीसगढ़ का नहीं है। स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता की बात करें तो छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल मेकाहारा की स्थिति किसी से छुपी नहीं है। 2013 में भाजपा के संकल्प पत्र में मेट्रो और मोनो रेल लाने की बात कही थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ, हालाँकि मेट्रो और मोनो रेल मार्ग के सर्वे में जरूरी 50 लाख रुपये खर्च हुए। भारतीय जनता पार्टी द्वारा किये गये ऐसे कई झूठे वादे जुमले साबित हुए हैं और डॉ रमन सिंह प्रदेश में विकास यात्रा कर रहे हैं और कांग्रेस पार्टी जब विकास खोज रही है तो विकास केवल पेपरों पर ही दिख रहा है। शराबबंदी करने की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार स्वयं ही शराब बेचने लगी क्योंकि शराब की कमाई चुनाव में काम आने वाली है और शराब के गोडाउन तो सरकारी कब्जे में हैं ही। शराब कारोबार से जुड़े लोगों का रोजगार भी भाजपा सरकार ने छीन लिया जिससे बेरोजगारी की दर भी बढ़ी है यही नहीं, नहीं स्तर की शराब को ऊंचे दामों में बेचकर भाजपा सरकार मुनाफा कमाने में लगी है और यह भी नहीं सोचा कि लोगों के स्वास्थ्य का क्या होगा? आज तक बस्तर में हमारे आदिवासी भाई बहनों के शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के बारे में इस असंवेदनशील सरकार ने कुछ नहीं किया और न ही नक्सली समस्या का समाधान करने में रमन सरकार सक्षम है। किसानों की बेरुखी जितनी छत्तीसगढ़ में भाजपा की रमन सरकार में हुई है उतनी कहीं भी नहीं हुई है, किसान आत्महत्या कर रहे हैं और भाजपा के कृषि मंत्री इसे पब्लिसिटी स्टंट कह रहे हैं इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण और कुछ नहीं हो सकता है।
डॉ महंत ने कहा कि छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार ने जनता को ठगने का काम किया है और जनता के पैसों का दुरूपयोग किया है, डॉ रमन सिंह की विकास यात्रा इसका जीता जागता उदाहरण है क्योंकि सरकारी पैसों पर भाजपा अपना चुनावी प्रचार प्रसार कर रही है न कि कोई जनहित के कार्य, जनता सब समझ गई है और भाजपा की राज्य सरकार के असली रूप से अवगत हो गई है और अब आगे आने वाले छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव 2018 में माननीय श्री राहुल गांधी जी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी को मजबूती प्रदान कर संपूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के लिए सहयोग करेगी।
डॉ चरणदास महंत ने भाजपा सरकार से पूछा है कि डॉ रमन सिंह के इस विकास यात्रा से जनता को क्या फायदा है और इस यात्रा में जो खर्च किया जा रहा है वो किसका पैसा है?

Prakash Punj Pandey

Prakash Punj Pandey

State Bureau Chhattisgarh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: