हमीरपुर पुलिस के द्वारा चोर के साथ किये गए अमानवीय कृत्य पर भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन की चेतावनी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हमीरपुर (बुंदेलखंड) 12 जनवरी 2018 को हमीरपुर मुख्यालय में पुलिस ने एक तथाकथित जेबकतरे को पकड़कर लात घूसों से पीटते हुए अधमरा कर दिया. पुलिस के इस मानवीय कृत्य पर भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन ने निंदा की तथा साथ ही दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध त्वरित कार्यवाही की मांग की है.

क्या है मामला :-
विगत १२ जनवरी दिन शुक्रवार को पुलिस ने एक एक जेबकतरे को पकड़ने के बाद उसको मारा पीटा, इतना ही नहीं बल्कि दो पुलिस कर्मियों ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए जेबकतरे को जमीन पर लिटा कर उसके हाथ जूतों तले कुचल डाले. पुलिस की बर्बरता से जेबकतरा बेसुध हो गया. सदर कोतवाल ने मामले को दबाने के लिए जेबकतरे को कोतवाली से भगा दिया.
इस अमानवीय कृत्य पर भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन के स्टेट जनरल सेक्रेटरी देशराज नामदेव ने निंदा करते हुए कहा की “पुलिस द्वारा किये गए आमानवीय कृत्य की भारतीय मानवाधिकार एसोसियेशन घोर निंदा करती है,मानवाधिकार उल्लंघन के मामले बर्दास्त नही किये जायेंगे।मैं जनपद के लोक प्रिय पुलिस अधीक्षक से आपेक्षा करता हूं कि वो पीड़ित की चोटों का मेडिकल परीक्षण कराकर दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध अविलनम्ब विधि सम्मत प्रभावी कार्यवाही करके जिले के आम नागरिकों के मानवाधिकारों के संरक्षण प्रदान करने का आवश्वासन प्रदान करेंगे। अन्यथा कि स्थित में भारतीय मानवाधिकार एसोसियेशन,मानव अधिकार आयोग व् मानवाधिकार न्यायालय के माध्यम से मानवाधिकार उल्लंघन के दोषी नामित पुलिस कर्मियों को दंडित कराने व् पीड़ित को उचित क्षतिपूर्ति दिलाकर न्याय दिलाने की ठोस पहल करेगा।जिसमे जिले के पुलिस अधीक्षक को भी सह उत्पीड़नकर्ता के रूप में नामित किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: