मौदहा: गंदगी व जल भराव से नगर में फैल रहीं बीमारियां, सफाई कर्मचारी कर रहे मनमानी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हमीरपुर मौदहा। नगर पालिका मौदहा के सफाई कर्मियों की फौज व उनकी दबंगई के चलते नगर की साफ सफाई की व्यवस्था धडाम हो गयी है । काहे की स्वच्छता काहे का अभियान, लोगो की माने तो जब सफाई नायक और सफाई निरीक्षक से शिकायत के बाद वह दोनो हाथ खडे कर देते हुये कहते है कि सफाई कर्मियो द्वारा हमारी नही सुनी जाती।

जगह जगह नालियां दो से तीन फिट तक कीचड से पटी होने के कारण ओवर फलो होकर सडक जाम कर रही है। वहीं बडे बडे नाले भी गन्दगी से भरे पडे है और मच्छरों के प्रषूति ग्रह बन गये है। सडको पर सरकारी एवं एन0जी0टी0 के सख्त आदेशों के बावजूद कूडा जलते हुये कहीं भी देखा जा सकता है शहर मे तीन बार सफाई के आदेश के बाद भी बमुश्किल एक बार सफाई होना ही भारी पड रहा है।

और तो और शहर के एक मात्र राजकीय कन्या इण्टर कालेज के सामने वाली पुलिया महीनो से गन्दा व बदबूदार पानी ओवर फलो के रूप मे रात दिन बहता है जिसे पार करने के लिये छात्राओ के साथ अन्य राहगीरो को भी छलांग लगाना पडती है वहीं बूढे व बच्चे अक्सर चुटहिल तक हो जाते है। मजे की बात तो ये है कि ये जगह नगर पालिका कार्यालय से मात्र दस कदम की दूरी पर है और इस पर पालिका प्रशासन की नजर नही जा पा रही ।

नालियां गन्दगी से पटी पडी है नालियों की सफाई यदि कही हुयी भी तो कूडा वहीं निकाल कर डाल दिया जाता है जो नालियों के बाहर पडे रहने के कारण पुनः नालियों को चोक करने के काम आ रहा है। बताया जाता है कि कई बार सफाई नायक और सफाई निरीक्षक से शिकायत करने के बाद भी कहीं कुछ नहीं होता। शब्जी मण्डी मे तैनात एक सफाई कर्मी आता तो समय से है लेकिन बैठा रहता व दुकाने खुल जाने के बाद ही झाडू लगाना उसकी आदत बन चुकी है। सफाई जल्दी करने का उलाहना देने पर दुकानदारो से कहा जाता है कि सफाई जल्दी करने पर उसकी डयूटी ट्रैक्टर मे लगा दी जायेगी। उक्त विषय पर नगर पालिका अध्यक्ष महोदय द्वारा फोन न रिसीव करने के कारण उनका पक्ष नही लिया जा सका।

रिपोर्ट:क़य्यूम वारसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: