शुद्व शीतल पेयजल की एक बूंद को तरसे फरियादी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

MPकौशल किशोर मिश्रा ब्यूरो चीफ अमेठी

अमेठी। स्वच्छ पेयजल के लिए तहसील अमेठी में फरियादी ही नही परेशान है। अधिवक्ता और कर्मचारी भी पानी के लिए इधर उधर भटकते नजर आ रहे है। आने जाने वाले अधिकारी कर्मचारी भी फ्रेश होने के लिए आस पास पानी के लिए हाथ पांव मारते है। लेकिन उन्हे एक बूंद पानी नही नसीब होता है। अमेठी लेखपाल संघ कक्ष मे आरो वाटर का प्लांट भी लगा हैं जिसके पीछे आरो के पानी की टोटियां भी लगी हैं लेकिन करीब 7 माह से पानी उगल रही है। यही हाल अमेठी बार ऐशोशियेसन की पहल पर शुद्व पेयजल के लिए भवन और शीतल जल के लिए विशालकाय मशीन भी स्थापित की गई जिसके उद्घाटन के लिए नेता और बार के अधिवक्ताओ ने खूब वाह वाही लूटी। लेकिन अब छः महीने से शुद्व पेयजल पानी नही उगल रहा है। कुछ लोग कहते है कि पावर की सप्लाई बाधित कर दी गयी तो कुछ लोग कहते है कि मशीन खराब है। शुद्व पेयजल की व्यवस्था करने वाले व्यवासायी आजकल सियासत के दौर में है। न उनसे आज तक किसी ने शिकायत किया न ही किसी ने मदद मांगी। उपजिलाधिकारी कार्यालय के दक्षिण लगा इण्डिया मार्क 2 हैण्डपम्प लगभग 3 सालो से पानी नही दे रहा है। पानी की तलाश में रायपुर फुलवारी के राजेन्द्र कुमार मिश्र उर्फ समाजवादी पानी के लिए नल और टोटियांे पर हाथ फेरा लेकिन छोटी दीपावली के दिन तहसील में पानी नसीब नही हुआ। फरियादी राममिलन राकेश सरोज सिह रोशनलाल न्याय सिंह विकास सिंह रजनी और दीपा पानी के लिए बारी बारी से टोटियो का मुह निहारती रही। स्विच दबाने के बाद भी टोटियां पानी नही दे रही है और हैण्डपम्प सूखा पड़ा है। जो राजस्व विभाग के कार्यालय का यह हाल हैं। तो इस विभाग के अधिकारी और कर्मचारी के कारनामे हैरतअंगेज जरुर होगे। नायाब तहसीलदार विश्वजीत ने बताया कि बजट का अभाव है। जल निगम को आवश्यक निर्देश दिये गये है। नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी को भी इस बारे में अवगत कराया गया।

Ashok Shrivastav

State Head Uttar Pradesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: