डी एम ने जांच बैठाई , मामला अल्ट्रासाउण्ड रोगी से नजराना वसूली का रहा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

अमेठी। महामहिम राज्यपाल राम नाईक के अमेठी आगमन पर सी एच सी अमेठी मे अल्ट्रासाउण्ड मे नजराना वसूली को लेकर प्रशासन गम्भीर हो चला है।अपर जिलाधिकारी फरुखाबाद प्रियंका सिंह के जांच आदेश को जिला प्रशासन ने संज्ञान लिया।दोषी के ख़िलाफ़ जांच कमेटी का गठन जिलाधिकारी शकुंतला गौतम ने किया है।जांच मे सी एम ओ डा राजेश मोहन तथा सी डी ओ को निर्देश दिया है कि अल्ट्रासाउण्ड रोगी साहिना पुत्री मक़बूल निवासी दादूपुर मामले की जांच कर आख्या जिलाधिकारी कार्यालय को सौपे।

सी एच सी अमेठी अधीक्षक डा राजेंद्र प्रसाद सिंह को रोगी के पिता मक़बूल ने लिखित पत्र दिया है कि मुझे गुमराह करके शिकायती पत्र दिलवाया गया है।मै चिकित्सा व्यवस्था से संतुष्ट हूँ।मामले मे तथाकथित कर्मचारी लल्ले ऊर्फ हुबलाल कश्यप निवासी पूरे तिहैतन मजरे भीमी ने अल्ट्रासाउण्ड रोगी से नजराना वसूली का मामला महँगा पड़ गया जो जिला प्रशासन की जांच के घेरे मे आ गये है।जांच टीम मामले मे अब क्या करेगी यह तो समय तय करेगा।फिल हाल मामले को लेकर शुक्रवार के दिन सी एम ओ डा राजेश मोहन ने जिलाधिकारी से मिले और मामले के प्रति सफ़ाई दी लेकिन जिलाधिकारी सी एम ओ की बात से संतुष्ट नहीं हुई और मामले मे जांच बैठा दी।अधीक्षक सी एच सी अमेठी डा राजेंद्र प्रसाद सिंह अल्ट्रासाउण्ड मामले को लेकर बेहद परेशान नज़र आ रहे है।जांच मे मामला क्या तय होगा । भाजपा के शीर्ष नेताओं की भी नज़र मामले पर है।राज्यपाल का अमेठी दौरा फिलहाल स्वाथ्य विभाग की असली रूप को उजागर कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: