अमेठी में फर्जी एल आई यु इंस्पेक्टर को पुलिस ने किया गिरफ़्तार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अशोक श्रीवास्तव, यु पी स्टेट हेड की रिपोर्ट

उत्तर  प्रदेश के अमेठी जिले में फर्जी एलायू इंस्पेक्टर पासपोर्ट की जांच करते धरा गया. पकड़ा गया कथित इंस्पेक्टर शैलेन्द्र प्रताप सिंह को स्थानीय पुलिस ने हिरासत में लेकर थाने पर बैठाया. कथित इंस्पेक्टर शैलेन्द्र प्रताप सिंह निवासी ढेलहा थाना कोतवाली लम्भुआ जनपद-सुलतानपुर का निवासी है. अमेठी कोतवाली प्रभारी भरत उपाध्याय ने कहा कि बिना तहरीर के मुकदमा कैसे लिखा जाये. आरोपी इंस्पेक्टर शैलेन्द्र सिंह ने अभिसूचना इकाई कार्यालय मे व्याप्त दलाली को कुबूला. उसने बताया कि कार्यालय में तैनात राकेश बाबू के द्वारा ये कराया जाता है. आवेदक से जाँच के नाम पर पैसे वसूले जाते हैं बदले में 200 से 300 रुपये मुझे मिलते हैं. जो रिपोर्ट मैं लगा देता हूँ उसी अनुसार कार्य किया जाता है. अब इससेऑऎ साफ़ तौर पर जाहिर होता है कि स्थानीय अभिसूचना इकाई से सूचनाएं बाहरी व्यक्तियों को भी दी जाती हैं.
पकड़े गये फर्जी इंस्पेक्टर के बारे अमेठी कोतवाली प्रभारी भरत उपाध्याय से जब इस सम्वाददाता ने पून्छा तो उन्होने कहा कि अभी किसी की तरफ़ से कोई प्रार्थना पत्र इसके खिलाफ नहीं मिला है तो कैसे रिपोर्ट दर्ज़ किया जाय. ये पून्छने पर कि उसके पास से अभिसूचना इकाई का पासपोर्ट बनवाने का आवेदन पत्र व डिस्पैच डाक पर चढा आर्डर बुक बरामद हुआ है, इस थाना प्रभारी ने कहा अभी एल आई यु विभाग से जानकारी मंगाई गई है, उसके बाद ही कुछ होगा.
इस सम्वाददाता ने फिर इंस्पेक्टर एल आई यु केदार राम से इसके बारे में जानकारी चाही तो वो महोदय इस सम्वाददाता से उसे छुड़वाने के लिये थाना प्रभारी अमेठी से बात करने लगे. उन्होने स्वीकार किया कि राकेश बाबू से बहुत बड़ी गलती हो गई है. अब किसी तरह से उसे बचा लीजिये.

मामला अमेठी स्थित रेलवे स्टेशन पर संचालित साइकिल स्टैंड के मालिक हरीश सिंह से जुड़ा है. थाना कोतवाली अमेठी के ग्राम पंचायत गंगौली के ग्राम अमहा निवासी  हरीश कुमार सिंह ने पासपोर्ट बनवाने के लिए आवेदन किया था। इनके मोबाइल नं0 पर बीस दिनो से आवेदन पत्र के जांच को लेकर अक्सर फोन आ रहा था.
सोमवार को 11 बजे रेलवे स्टेशन पर तथा कथित इंस्पेक्टर ने मिलने की बात कही। मौके पर घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को भी दे दी गयी। देर शाम 4 बजे तथा कथित इंस्पेक्टर शैलेन्द्र प्रताप सिंह निवासी ढेलहा थाना कोतवाली लम्भुआ जनपद-सुलतानपुर रेलवे स्टेशन परिसर में स्थित टैक्सी स्टैण्ड के पास पहुचें वहाॅ पर बैठे आवेदक हरीश कुमार का नाम पूंछा और पासपोर्ट बनवाने का आवेदन पत्र डिस्पैच डाक पर चढा आर्डर बुक सहित देखकर आवेदक ने कहा कि आपकी तैनाती कब से है तो तथा कथित इंस्पेक्टर ने कहा कि मै बीस दिनो से पासपोर्ट आवेदन पत्रों की जांच कर रहा हूॅ।
जब मामला समझ में आ गया तो इसकी जानकारी सीबी सीआईडी में तैनात स्थानीय निरीक्षक केदार राम से बात की तो उन्होने बताया कि नयी तैनाती अभी हुई है . मै ही अमेठी क्षेत्र की ड्यूटी पर आज भी तैनात हूॅ। मामले की रिपोर्ट थाना कोतवाली अमेठी पहुंची और पुलिस आनन-फानन में तथा कथित इंस्पेक्टर शैलेन्द्र प्रताप सिंह को अपनी हिरासत में ले लिया और थाना कोतवाली अमेठी देरशाम ले आये।

थाना कोतवाली अमेठी में जब पुलिस ने कड़ाई से पूछा तो कथित एलायू इंस्पेक्टर शैलेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि जिला अभियोजन कार्यालय मे तैनात राकेश बाबू पासपोर्ट के आवेदन पत्र आर्डर बुक सहित डाक डिस्पैच पर चढ़ा हमे देते हैं. मामला कोतवाली पुलिस और एल आई यु के बीच में समझौते की राह पर चल रहा है.

 

 

Ashok Shrivastav

State Head Uttar Pradesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: