नो रोड नो वोट मुहीम ने पकड़ी रफ़्तार, मांगे पूरी न होने पर 10 नवम्बर से करेंगे आमरण अनशन

  • 19
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    19
    Shares

नेशनल हाईवे 34 में हो रही मौतों को रोकने के लिए चलाई जा रही मुहीम “नो रोड नो वोट” ने पकड़ी रफ़्तार. सम्बंधित विभागों को ज्ञापन दे कहा, अगर जल्दी ही कार्यवाही नहीं हुई हो तो हजारों लोग बैठेंगे धरने पर.

भरुआ सुमेरपुर (हमीरपुर) नेशनल हाईवे 34 में लगातार हो रही मौतों व् सम्बंधित विभागीय अधिकारियों की चुप्पी को देखते हुए स्थानीय निवासियों ने बीड़ा उठाया है कि जब तक नेशनल हाईवे में घनी आबादी कस्बों में बाई पास व डिवाइडर नहीं बनेगा तब तक यहाँ एक एक भी नागरिक मतदान नहीं करेगा.
ज्ञात हो कि कानपुर से सागर नेशनल हाईवे 34 घनी आबादी वाले कस्बों से होकर निकला है. हाईवे होने की वजह से वाहन तेज रफ़्तार में निकलते है जिसपर स्थानीय प्रशासन नकेल कसने में नाकाम है.
तेज रफ़्तार वाहनों की वजह से अब तक 13 हजार से ज्यादा एक्सीडेंट हो चुकें है जिनमे 10 हजार से भी ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. इस बाबत स्थानीय निवासियों ने कई बार शाशन-प्रशासन का दरवाजा खटखटाया लेकिन इन्हे निराशा ही हाथ लगी.

ये भी पढ़ें :-हमीरपुर:लोक सभा चुनाव का बहिस्कार, लोगों ने कहा रोड नहीं तो वोट नहीं

इस मुहीम कि शुरुआत करने वाले रविंद्र, राहुल विश्वकर्मा, अभिलाष, रिशु, हेमंत, कारन, अशोक गुप्ता , वसीम अकरम, बृजेश पाल, राजेंद्र कुमार व लल्ला साहू ने बताया कि लगतार हो रही मौतों के बाद भी विभागीय अधिकारी व सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है इस लिए हमें मजबूर हो कर ये मुहीम चलानी पड़ रही है.
रविंद्र ने कहा कि जब तक उनकी आठ सूत्रीय मांग पूरी नहीं होगी तब तक यहाँ कि जनता मतदान नहीं करेगी. साथ ही जिलाधिकारी, सड़क परिवहन एवं राज्य मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश, केशव प्रसाद मौर्या उप मुख्यमंत्री व् स्वतंत्र देव सिंह परिवहन राज्य मंत्री को लिखित शिकायत प्रेषित कर अपनी मांगों को अवगत कराते हुए कहा कि अगर उनकी मांगें पूरी नहीं हुई तो आगामी 10 नवम्बर से हजारों लोग आमरण अनशन शुरू करेंगे.
राहुल विश्वकर्मा ने कहा कि जो लोग भी इस मुहीम से जुड़ना चाहे वो :- रविंद्र :-9455937066 , राहुल :- 8840430683 , संतोष प्यासा :-8840724891 इन नम्बरों पर संपर्क कर सकता है.
ये हैं आठ सूत्रीय मांग :
इस हाईवे को फॉर लाइन किया जाये. बाईपास बनवाया जाये साथ ही डिवाइडर का भी निर्माण हो.
तीव्र गति वाहनों वाहनों व मानक से ज्यादा तीव्र ध्वनि (हॉर्न) वाले वाहनों पर नकेल कसी जाये.
हर चौराहे पर सी सी टीवी कैमरा व् ट्रैफिक पुलिस की उपलब्धता.
छोटे सवारी वाहनों में मानक से ज्यादा सवारियां बैठाने पर विधिक कार्यवाही हो.
ठेले, खोमचे व् अन्य किसी भी प्रकार के अतिक्रमण को हटा कर उनकी अलग स्थान पर व्यवस्था की जाये.
नेशनल हाईवे में बैरिकेटिंग की सुविधा सुनिश्चित की जाये.
बिना हेलमेट वाले दोपहिया वाहनों व बिना सीट बेल्ट बांधे हुए चार पहिया वाहनों को पेट्रोल न दिया जाये.
नेशनल हाईवे हेतु एक विशेष एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाये, जिसमे प्राथमिक उपचार की सुविधा हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: