‘पिंक बूथ’ हटाये जाने के नाम पर छिड़ गई बहस, आखिर पिंक कलर से क्यों डरते हैं नेता? क्या पिंक कलर किसी पार्टी का कॉपी राइट है?

  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

रायपुर:08 अक्टूबर 2018:
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रतिनिधि मंडल इकबाल एहमद रिजवी, नितिन भंसाली और विकास दुबे द्वारा आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ के कार्यालय में हुई बैठक के दौरान मुख्य निर्वाचन आयुक्त, नई दिल्ली के नाम से छत्तीसगढ़ में निष्पक्ष चुनाव कराने तथा द्वितीय चरण के मतदान की तिथि में परिवर्तन करने के लिये मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, छत्तीसगढ़ को एक ज्ञापन सौपा है, जो संलग्न है। मीटिंग में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के प्रवक्ता नितिन भंसाली की बीजेपी नेता नरेश गुप्ता द्वारा पिंक बूथ हटाये जाने के नाम पर कुछ बहस भी हुई जिस पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने हस्तक्षेप करते हुए मामले को शांत किया।
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) पार्टी छत्तीसगढ़ प्रदेश के चुनावों को निष्पक्ष करवाये जाने हेतु निम्नानुसार मांग की है।

1.चुनाव आयोग द्वारा छत्तीसगढ़ में द्वितीय चरण के मतदान हेतु 20 नवम्बर 2018 की तिथि निर्धारित की है। चूंकि 20 नवम्बर को ईद मिलादउन्नबी का त्यौहार पड़ रहा है अतः उक्त तिथि में परिवर्तन कर21 या 22 नवम्बर 2018 को द्वितीय चरण का मतदान करवाया जाए।

2.रिमोट एरिया में पदस्थ कलेक्टरों को तत्काल प्रभाव से बदला जाय ताकि चुनावों में निष्पक्षता बनी रहे।

3.प्रदेश में लगे सभी सरकारी विज्ञापनों के होर्डिंग्स को तत्काल हटाया जाए।

4.मोबाईल एप्स के माध्यम से हो रहे सरकारी योजनाओं के प्रचार को तत्काल रोका जाए।

5.प्रदेश में सरकारी माध्यम से किये जा रहे शराब के व्यापार को निर्वाचन आयोग अपनी निगरानी में तत्काल लें। शराब दुकानों के अलावा डिसलरी में भी निगरानी की जाए।

                                            

 

Prakash Punj Pandey

Prakash Punj Pandey

State Bureau Chhattisgarh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: